अधूरे ख्वाब's image
Share0 Bookmarks 60367 Reads0 Likes

नींद आज फिर

छूकर निकल गई

रात आई और

आ कर ठहर गई


अधूरे ख्वाब पलकों पे

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts