अभिमानी's image
Share0 Bookmarks 10382 Reads0 Likes

मैं नादान उद्दंड अभिमानी

तेरी महिमा मैंनें न जानी

मैं याचक कर जोड़े खड़ा हूँ

तुम सा कहाँ दूजा कोई दानी


No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts