हाँ मैं स्त्री हूँ's image
97K

हाँ मैं स्त्री हूँ

हाँ मैं स्त्री हूँ 
    तो क्या करूँ ? 
देती रहूँ आहुतियाँ 
इच्छाओं के धूप को , 
हवन कुंड में फेंक फेंक 
अग्नि जलाती रहूँ 
और औरत कहलाती रहूँ? 
                       खुश हो न?
                       मैं हमेशा त्यागती जो हूँ! 
बेचारी के रूप में देखना 
कितना पसंद तुम पुरुषों को
बेचारी अबला नारी 
                         दस के झुंड में तुम जो चलो
Read More! Earn More! Learn More!