अभी भी इंसानियत जिंदा, बिदाई के बाद पहली बार एक पिता को मैने यह कहकर हंसते देखा..'s image
72K

अभी भी इंसानियत जिंदा, बिदाई के बाद पहली बार एक पिता को मैने यह कहकर हंसते देखा..

अथाह दहेज देने के बाद सारे विवाह में

कन्यादान के उपरान्त हर पिता को मैंने रोते देखा।

एक विवाह में बेटी के ससुराल से अथाह

Read More! Earn More! Learn More!