भीड़ में , झुंड में's image
MotivationalPoetry1 min read

भीड़ में , झुंड में

Krishna PrajapatiKrishna Prajapati April 26, 2022
Share0 Bookmarks 15763 Reads1 Likes

भीड़ में, झुंड में

जो चलता नहीं ।

कामयाबी को और कोई

दिखता नहीं ।


उठाओ धनुष

चढ़ाओ तीर ।

जीतके सबको

हो जाओ रणवीर।


कमर जिसकी

कसी हुई होती है।

समझो उसीकी

जीत हुआ करती है।

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts