अंबर चांद और प्रेम's image
96K

अंबर चांद और प्रेम

तुम अंबर में चांद कोई 

मैं जिसमें हो गया विलीन 

मै सितारों का इक पनघट हूं

 तुम मंदाकिनी का दृश्य हसीन 

तुम दिनकर की भोर कोई 

मैं दिनकर का उजाला हूं

तुम सुबह की प्रथम किरण 

मैं दोपहर की ज्वाला हूं


तुम अद्वितीय हजारों में 

मेरे जैसे हजार 

मैं अंधकार का कोना हूं

तुम हो रोशनी अपार 


तुम सुगंधित कुसुम सी हो 

मैं मेघ

Read More! Earn More! Learn More!