मिरी तक़दीर के टुकड़े's image
242K

मिरी तक़दीर के टुकड़े

अदावत कर तो सकती है मिरी तदबीर के टुकड़े

मगर मुश्किल है कर पाना मिरी तक़दीर के टुकड़े


तअल्लुक़ टूट सकता है निगाहों का निगाहों से

तसव्वुर में मगर होते नहीं तस्वीर के टुकड़े


वफा होंटों पे रख दी और जफ़ा फ़ितरत के दामन में

मुसव्विर ही ने कर डाले मिरी तस्वीर के टुकड़े


ख़ुदी के ज़ोम में आकर ख़िरद वालों ने कर डाले

तिरी पाज़ेब के टुकड़े मिरी ज़ंजीर के टुकड़े

Tag: shayari और3 अन्य
Read More! Earn More! Learn More!