पक्षपातों का ज़माना's image
240K

पक्षपातों का ज़माना

योग्यता है ठोकरें खाती कहाँ कोई ठिकाना?

दुष्टता ही सब जगह बैठी बनाकर के बहाना !

अर्थ की

Tag: poetry और2 अन्य
Read More! Earn More! Learn More!