( क़ितआ ) - धमकियाँ दर्द की -Kamini  Mohan's image
95K

( क़ितआ ) - धमकियाँ दर्द की -Kamini Mohan

( क़ितआ ) - धमकियाँ दर्द की

धमकियाँ   दर्द  की  ख़ुशियों  पर  है  भारी
ऐसा  डर जैसे  रात  स्याही बरसीं  हो भारी
Read More! Earn More! Learn More!