एक नई बात- कामिनी मोहन।'s image
95K

एक नई बात- कामिनी मोहन।

दुःख की पताकाएँ,
उड़ती रहेगी।
क्षुद्रता अहंकार की ओट में
छुपती रहेगी।

जब बात से बात,
कुछ बो
Read More! Earn More! Learn More!