प्रेम's image
Share0 Bookmarks 62663 Reads2 Likes
तुम्हारे प्रेम का अमृत , 
तुम्हारे क्रोध का विष पिया है 
मां पार्वती सा साथ हो तुम्हारा ,
महादेव सा मैंने वचन लिया है 
मन मंदिर में घर कर  ,
तन को तुम

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts