हम तेरे मज़लूम है...'s image
260K

हम तेरे मज़लूम है...

मक़बूल है कि हम तेरे मज़लूम है,
दे दर्द जी भर के,
कि जमा दिल में दर्द-ए-हुजूम है,


सह कर तेरे कहर सभी,
बन सहर-ए-शहर उतर जाऊं,
इस कद्र तेरी कयामत सह जाऊं,
स्याह रात से,
उजास दिन हो जाऊं,
कागज पर लिख,
गीत ज़रा गुनगुनाऊं,


दस्तूर-ए-इश्क,
रहा ही, ये ही,<
Read More! Earn More! Learn More!