होली खूब मनाइए (छंद )'s image
मेरी लेखनी मेरी कविता 
होली खूब मनाइए (छंद )

होली खूब मनाइए
लेकिन मन में धार 
प्रेम गीत मन में बसें
जीवन का आधार ।।

सच्चे मन से खेलिये
Read More! Earn More! Learn More!