बहुत उड़ान बाकी है (कविता)'s image
99K

बहुत उड़ान बाकी है (कविता)

मेरी लेखनी मेरी कविता 
बहुत उड़ान बाकी है
 (कविता)

परिंदे रुक मत
तुझमें अभी जान बाकी है ।
मंजिल दूर है
 बहुत उड़ान बाकी है।

यूंँ ही नहीं मिलती
रब की मेहरबानी ,
एक से बढ़कर ए
Read More! Earn More! Learn More!