यार's image
Share0 Bookmarks 15740 Reads1 Likes

खुद्दारी का क्या आचार डालु,
जब जलील करके भी मेरा अपना है मेरा यार |

और जमाने की इज्जत से तंग आ गया था,
बरसो बाद हसा जब फोन पे गाली दे गया यार||


शायद बहुत ताकतवर काला जादु होगा दोस्ति का.........
मंजिल पे पोहच मे गया,
जब कि गाडी तो तेरी चल पडी थी यार|


अरे रंग बदलू मंत्रीओ झूठ बोलना मेरे यार से सीखो....

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts