उन्हें मेरा इंतज़ार आज भी है...'s image
Poetry1 min read

उन्हें मेरा इंतज़ार आज भी है...

Dr. SandeepDr. Sandeep February 21, 2022
Share0 Bookmarks 222830 Reads6 Likes

जानता हूँ उनकी निगाह-ए-नाज़ आज भी है

उनकी नज़र को मेरा इंतज़ार आज भी है..

वो डरते नहीं ज़माने से बदनाम न हो जाएँ

इज़हार-ए-इश्क़ का अलग अंदाज़ आज भी है..

उन्हें खूब आता है मुझे रिझाने का हुनर

मुझे उनका हसरत-ए-दीदार आज भी है..

रही होंगी कुछ मजबूरियां वो दूर हैं मुझसे

पर मुझे उनका ख़याल-ओ-ख़्वाब आज भी है..

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts