हमदर्द मेरे नाराज़ न होना…'s image
117K

हमदर्द मेरे नाराज़ न होना…

सुनो हमदर्द मेरे मुझसे नाराज़ न होना

मुझे अज़ीब सी आदत है भूल जाने की

मुझ ख़तावार की ये गलती माफ़ करना

नहीं थी कोशिश तुम्हारा दिल दुखाने की..!!

मैं तेरे ग़ैरत-ए-जज़्बात पहचान ना पाया

नहीं थी हरकत तुझे तकलीफ़ पहुँचाने की

मुनासिब हो तो सितमगर को माफ़ करना

Tag: तुष्य और2 अन्य
Read More! Earn More! Learn More!