सड़क के किनारे पर's image
Share0 Bookmarks 68596 Reads0 Likes

बैठा हूं सड़क के किनारे पर

जी रहा हूं उम्मीद की राह पर

तार-तार अंबर से जिस्म लिपटा है

सड़क के किनारे पर |२|


भूख–प्यास बुझाता हूं

दो–चार पानी के घुट पीकर

कई बार खुद में ही हंसता–रोता

सड़क के किनारे पर |२|


बनाया है घर और आंगन

इस सड़क के किनारों को

अपनों से बि

Send Gift

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts