दूरियां फिर शून्य हो जाती हैं's image
92K

दूरियां फिर शून्य हो जाती हैं

उनको भी पूरा यकीन है, प्यार उनका अफीम है

बातचीत बंद करने से प्यार नहीं मरा करता

यादों के सहारे ही दीवानों की सांसे चलती हैं

बेशक आंखें तरस जाती है, फिर बरस जाती हैं

फिर भी सावन में मिलन की आस लगी रहती है


दीवानगी जब अपने चरम को छूत

Read More! Earn More! Learn More!