हजारों शर्तें उसकी...कुछ तुम्हारी मजबूरियां भी होंगी's image
257K

हजारों शर्तें उसकी...कुछ तुम्हारी मजबूरियां भी होंगी

हजारों शर्तें उसकी

कुछ तुम्हारी मजबूरियां भी होंगी

चूमकर माथा, जिसे लगाया सीने से

उस रिश्ते में एक दिन दूरियां भी होंगी



बिस्तर पर महक न होगी उसकी

न स्याह जुल्फों का आंचल होगा

तन्हा-सर्द रातों में उस सुकूं को ढूंढ़ता

 नशे में तेरा दिल भी पागल होगा


जिसकी हर गलती पर माथा चूमा था तुमने

Tag: poetry और32 अन्य
Read More! Earn More! Learn More!