वक्ता और श्रोता's image
241K

वक्ता और श्रोता


कौआ चौंह जग काऊँ काऊँ ते,

कोयल सुरील सुर कहाँ सुहाय।


वेद शास्त्र तब कौनय पढाय, 

जब जग मात्र श्रोता

Tag: poetry और1 अन्य
Read More! Earn More! Learn More!