राज्य नर्प's image
Share0 Bookmarks 60016 Reads1 Likes

राज्य नर्प गर मातम धुनि सुन न पाये 

उस राज्य प्रजा मूकबधिर बन जाय  


खेत मे जो भी उपजे उसको ही खाय 

नर्प कह दुगनी आय वो न अपनाय 


न मिले निवाला गर सरकंडे भख खाय 

जो बीत रही उनपर नर्प को न बतलाय 


मिले फ्री भोजन, न धुआ रहित हो जाय 

पके भले&nb

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts