किसान आंदोलन's image
246K

किसान आंदोलन

राज्य नर्प जो गर मातम ध्वनि सुन न पाये 

उस राज्य प्रजा तब मूकबधिर बन जाय  


खेत मे जो भी उपजे उसको ही वो खाय 

नर्प कह दुगनी आय को कभी न अपनाय 


न मिले निवाला गर तो सरकंडे भख खाय 

जो बीत रही हो उनपर नर्प को न बतलाय 


मिले फ्री सिलेंडर गर , न धुआ रहित हो जाय 

पके भले

Tag: poetry और1 अन्य
Read More! Earn More! Learn More!