हमारी कोई गलती न थी's image
264K

हमारी कोई गलती न थी

अपनी सख्सियत, किसी से मिलती न थी..,

थी दिल में खिड़की, पर खुलती न थी..I

हम थे अपने दिल के ही मालिक..,

किसी की भी हमपे, चलती न थी..II


मिला एक वो , सख्सियत बदल गयी..,

बंद थी जो खिड़की, वो खिड़की खुल गयी..I

Tag: poetry और3 अन्य
Read More! Earn More! Learn More!