तस्वीर बदल देने से क्या जिंदगी बदल जाती है?'s image
322K

तस्वीर बदल देने से क्या जिंदगी बदल जाती है?

तुम्हारी और मेरी

एक लड़ाई अब भी बची है,

मै बस इंतजार कर रहा हूँ

पहले जो लड़ाई खुद से लड़ रहा हूँ

उसे जीत लू,

फिर तुमसे भी लडूंगा !

हर रोज़ तुम जो सामने आईने में आ जाती हो

और खुद ही खुद को देखकर

पलक झपकते ही चली जाती हो

क्या जरूरत है रोज़ाना इतना दूर चलकर आने की

यादें ही बहुत है न !

और हाँ!

तस्वीरें भी तो छोड़ी है न तुमने

अब ये बहुत चुभती है

वक्त इन्हे घिस घिस कर और कोरा’ बना रहा है !

सुनो कल गया था मैं,

बगल वाले उस पार्क में,

वहाँ सब थे – सब मगर..

उस झूले में तुम नज़र आयी.

उदास, शांत, चोटिल

यादें जरूर थी वहां

उनके साथ कोई तो था जो खेल रहा था

शोर मचा रहा था

पता नहीं कौन था,

Tag: poetry और2 अन्य
Read More! Earn More! Learn More!