सरलता's image
Share1 Bookmarks 60819 Reads2 Likes
कितनी सच्चाई थी उसकी मुस्कान मे
न चेहरे पर कोई ढोंग था, और
न दिल में कोई फरेब।
न कुछ खोने का गम था,और
न कुछ पाने का लालच।
बस जो भी था सच था।

एक&n

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts