Doodh's image
Share0 Bookmarks 208565 Reads0 Likes

एना को आज उसकी कॉलेज की दोस्त निम्मी मार्केट में मिल गयी । दोनों मिल कर बहुत खुश हुईं और वहीं कॉफ़ी शॉप में बैठी हैं ।


‘निम्मी, बता क्या लेगी? कॉफ़ी या चाय?’


‘नहीं एना... मैं तेरे जैसे लेमन टी ही लूंगी... दूध नहीं पीती मैं अब...’


‘अरे? तू तो कॉलेज में चाय की बेहद शौक़ीन थी न? क्या हो गया?’‘मन खट्टा हो गया... हाहाहा... तू अब भी नहीं पीती क्या दूध, एना?’


‘मुझे दूध पी कर घबराहट होती है... लेकिन तूने चाय कैसे छोड़ दी?’‘यार... ससुराल में हर रोज़ दो लीटर दूध आता है... दिन में दो बार रिषभ के मम्मी-पापा, यानि सास-ससुर मेरे, रिषभ और मैं चाय पीते थे । फिर विकी हो गया, छोटा ही है... उसे दिन में तीन बार दूध पिलाते हैं . रात में फिर हम छह लोग फिर दूध पी कर सोते थे...’


‘तो चाय कैसे छोड़ दी?’‘झगड़ा ये हुआ कि सास-ससुर को लगा कि सारा दूध मैं ही पी जाती हूँ... उनका मानना है कि पहले भी 2 लीटर दूध ही आता था, सबके लिए काफी था । लेकिन जबसे मैं आई हूँ इस घर में, सबको दूध कम पड़ने लगा है । मैंने रिषभ को हिसाब बताया... अब बताओ दिन में इतनी बार सभी को दूध लग रहा है, चाय बन रही है, तो दो लीटर तो लगेगा न? रिषभ ने बात करने की कोशिश की, लेकिन फिर झगडा इतना बढ़ गया कि मम्मी ने कहा की अब से मैं नहीं, वे चाय बनायेंगी, और ये तय हुआ कि मैं न तो उस घर में दूध पियूंगी, न चाय । उपवास रहेगा अगर तो मैं मेरे मायके जा कर चाय पी लूंगी ... तबसे मैंने चाय कॉफ़ी छोड़ ही दी है...’


‘कितना

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts