सच्ची आँखों से रोना's image
Poetry1 min read

सच्ची आँखों से रोना

Abhay DixitAbhay Dixit May 11, 2022
Share0 Bookmarks 0 Reads0 Likes
झूठी आँखों से तो हर कोई मुस्कुराता है,
मुश्कि

No posts

Comments

No posts

No posts

No posts

No posts